Advertisements

New National Education Policy 2022 नई शिक्षा नीति What is NEP 5+3+3+4 Structure PDF

By SANJEET KUMAR

Updated on:

NEP New Education Policy: भारत में शिक्षा जगत के इतिहास में यह सबसे बड़ा बदलाव है। मानव संसाधन प्रबंधन मंत्रालय ने नई शिक्षा नीति का प्रस्ताव लाकर भारत को nep new education policy दी है। इस नई शिक्षा नीति की अध्यक्षता इसरो प्रमुख डॉ. कस्तूरीरंजन ने की है। इस आलेख में हम आपको नेशनल एजुकेशन पॉलिसी से संबंधित जानकारी देने जा रहे हैं। इसके साथ ही, हम आपको national education policy 2023 की विशेषताओं और इसके तहत किए गए बदलावों के बारे में भी जानकारी देंगे। इस नई शिक्षा नीति के अनुसार नए शिक्षा पद्धति, शैक्षणिक मानकों, और छात्रों को समर्थन देने के लिए नए कार्यक्रम शामिल हैं। यह नई शिक्षा नीति हिंदी भारत की शिक्षा क्षेत्र में बड़े सुधारों के लिए एक सकारात्मक कदम है। नेशनल एजुकेशन पॉलिसी 2023 को पढ़ने के लिए आप इसे education policy pdf कर सकते हैं 

Advertisements

भारत की इस नई शिक्षा नीति से एजुकेशन सिस्टम में क्या बदलाव होगा और इस बदलाव से आपके बच्चे या भारत के भविष्य पर क्या असर होगा इसके बारे में भी हम आपको जानकारी देंगे , अगर आप एक गार्जियन है आपके बच्चे पढ़ाई कर रहे हैं तो आपके लिए National Education Policy (NEP) के बारे में जानकारी रखना काफी ज्यादा महत्वपूर्ण है ।

National Educational Policy (NEP): Union cabinet paved the way for transformative reform in school and higher education system by launching the New National Education Policy (NEP) on 29th July 2020. They also renamed MHRD as Ministry of Education. After the old national education policy which was launched way back in 1986, this is the first education policy of 21st century that has replaced 34 years old education policy. The new NEP is based on four pillars which are Access, Equity, Quality, and Accountability. In this new policy, there will be a 5+3+3+4 structure which comprises 12 years of school and 3 years of Anganwadi/ pre-school replacing old 10+2 structure.

नेशनल एजुकेशन पॉलिसी 2023

भारत में पहले की शिक्षा नीति में बहुत समय से कोई भी बदलाव नहीं किया गया था जो जानकारी आप के दादा ने प्राप्त की थी वही जानकारी आपके पिता ने और अभी आप भी वही पढ़ रहे होंगे । भारत की विकास के लिए शिक्षा नीति में परिवर्तन लाना काफी ज्यादा जरूरी था और मोदी सरकार के द्वारा वर्ष 2023 में नई शिक्षा नीति का शुभारंभ किया गया है । इस शिक्षा नीति के तहत बहुत सारे क्षेत्र में छूट और अत्यधिक लाभ देने की कोशिश की गई है जिससे छात्रों पर पढ़ाई का बोझ कम होगा छात्र रट्टा मार पढ़ाई ना करके कुछ सीखने योग्य पढ़ाई करेंगे और भारत के विकास में अहम भूमिका निभाएंगे ।

Advertisements

नेशनल एजुकेशन पॉलिसी क्या है ?

नेशनल एजुकेशन पॉलिसी के तहत स्कूलों तथा कॉलेजों में होने वाली शिक्षा की नीति तैयार की जाती है और भारत सरकार के द्वारा नई नेशनल एजुकेशन पॉलिसी 2023 का शुभारंभ कर दिया गया है । सरकार के द्वारा New National Education Policy (NEP) में बहुत सारे अहम बदलाव किए गए हैं । नई एजुकेशन पॉलिसी में बदलाव करने का प्रमुख कारण भारत को वैश्विक नजर में महाशक्ति बनाना है ।

Advertisements

भारत की नई शिक्षा नीति के तहत 2030 तक स्कूली शिक्षा में 100% जी आई आर के साथ पूर्व विद्यालय से माध्यमिक विद्यालय तक शिक्षा का सर्वभौमिकरण किया जाएगा ( Medical and law study is not included) , नई शिक्षा नीति के आने से पहले 10+2 पैटर्न फॉलो किया जाता था परंतु इस नई शिक्षा नीति (NEP) के आ जाने से 5+3+3+4 के पैटर्न को फॉलो किया जाएगा , आगे हम आपको इस पैटर्न के बारे में विस्तार में बताएंगे ।

वैसे आपको एक और बात बता दे जब भाजपा सरकार का गठन 2014 में हुआ था तो उनकी घोषणा पत्र में New Education Policy लाने की बात भी बताई गई थी जो आज साकार होती दिख रही है ।

Advertisements

भारत की नई शिक्षा नीति, New Education Policy 2023 Highlights

आर्टिकल में बताया गया भारत की नई शिक्षा नीति , नेशनल एजुकेशन पॉलिसी 2023
लॉन्च किया गया भारत सरकार के द्वारा
लाभार्थी भारत शिक्षा जगत के तहत शिक्षा प्राप्त करने वाले हर एक नागरिक
उद्देश्य जो शिक्षा नीति चली आ रही है उसकी जो बुराई या कमी है उसको दूर करना और नई शिक्षा नीति को देशभर में लागू करना
आधिकारिक वेबसाइट Click here
लॉन्च किया गया वर्ष 2023 में

नेशनल एजुकेशन पॉलिसी के उद्देश्य

National Education Policy 2023 (NEP 2023 ) का मुख्य उद्देश्य भारत में अब तक जो शिक्षा प्रदान की जा रही है उस में क्रांतिकारी बदलाव लाना साथ ही भारत के शिक्षा को वैश्विक स्तर पर खड़ा करना है । जैसे हमारे भारत का इतिहास है कि पूरी दुनिया भारत से हमेशा सीखते आ रहे हैं वैसे ही भारत को ज्ञान के क्षेत्र में महाशक्ति बनाना भी New Education Policy 2023 , NEP 2023 का एक महत्वपूर्ण उद्देश्य है ।

National Education Policy के माध्यम से शिक्षा का सर्वभौमिकरण किया जाएगा साथ ही नेशनल एजुकेशन पॉलिसी 2023 के तहत सरकार के माध्यम से पुरानी एजुकेशन पॉलिसी में बहुत सारे संशोधन किए गए और कुछ नई सुविधा को भी जोड़ा गया है ।

भारत की नई शिक्षा नीति से शिक्षा में गुणवत्ता के साथ सुधार भी आएंगे जिससे बच्चों को अच्छी शिक्षा प्राप्त हो पाएगी ।

National Education Policy 2023 ,NEP की विशेषताएं

भारत की नई शिक्षा नीति के आ जाने से मानव संसाधन प्रबंधन मंत्रालय को अब शिक्षा मंत्रालय के नाम से जाना जाएगा ।

New Education Policy 2023 के अंतर्गत शिक्षा का सार्वभौमीकरण किया जाएगा जिसके तहत Medical और Law की पढ़ाई को शामिल नहीं की गई है ।

Advertisements

भारत में पहले की शिक्षा नीति के तहत 10+2 पैटर्न को फॉलो किया जाता था परंतु अब इस नई एजुकेशन पॉलिसी के अंतर्गत 5+3+3+4 के पैटर्न को फॉलो किया जाएगा जिसके तहत 12 साल की स्कूली शिक्षा दी जाएगी साथ ही 3 साल की प्री स्कूली शिक्षा को भी शामिल किया गया है ।

भारत की नई शिक्षा नीति के तहत स्टूडेंट को एक बड़ी राहत छठी कक्षा में मिलेगी क्योंकि छठी कक्षा से व्यवसायिक प्रशिक्षण इंटर्नशिप को भी आरंभ कर दिया जाएगा ।

Advertisements

पांचवी कक्षा तक शिक्षा मात्रिभाषा या फिर क्षेत्रीय भाषा में शिक्षा प्रदान की जाएगी :- यानी पांचवी कक्षा तक छात्र अपनी भाषा में ही पढ़ाई कर सकते हैं ।

पहले जैसे साइंस , आर्ट्स तथा कॉमर्स के स्ट्रीम हुआ करते थे उसके तहत छात्रों को एक निश्चित विषय की पढ़ाई करनी होती थी लेकिन अब ऐसी व्यवस्था को खत्म कर दिया गया है ।
उदाहरण से समझते हैं :- यदि कोई छात्र फिजिक्स का चयन करता है तो वह चाहे तो साथ में अकाउंट या आर्ट्स के भी सब्जेक्ट की पढ़ाई नई शिक्षा नीति के तहत कर सकता है ।

छात्रों को छठी कक्षा से ही कंप्यूटर और एप्लीकेशन के बारे में जानकारी दी जाएगी साथ ही उन्हें कोडिंग ही सिखाई जाएगी ।

सभी स्कूलों को डिजिटल किया जाएगा

सभी प्रकार के कंटेंट को क्षेत्रीय भाषा में ट्रांसलेट भी किया जाएगा ।

New Education Policy 2023 के तहत वर्चुअल लैब भी डेवलप किए जाएंगे ।

भारत की नई शिक्षा नीति के लाभ

  • भारत की नई शिक्षा नीति को लागू करने का सबसे बड़ा उद्देश्य भारत के छात्रों को सक्षम बनाना है ।
  • New National Education Policy 2023 को लागू करने के लिए जीडीपी का 6% हिस्सा केंद्र सरकार के द्वारा खर्च किया जाएगा ।
  • पढ़ाई में संस्कृत और भारत की जो प्राचीन भाषा है उनको अहम भूमिका दी जाएगी संस्कृत को आईआईटी के क्षेत्र में भी आगे ले जाया जाएगा साथ ही जो छात्र चाहे संस्कृत भाषा में ही अन्य सब्जेक्ट की पढ़ाई कर सकते हैं ।
  • बोर्ड परीक्षा को भी बहुत आसान कर दिया जाएगा पहले जो छात्र सोचते थे कि बोर्ड परीक्षा के समय में ही केवल बोर्ड की तैयारी दो-तीन महीने में पढ़ कर कर ली जाए इस व्यवस्था को खत्म कर दी जाएगी अब छात्रों को साल भर पढ़ाई करनी होगी और बोर्ड परीक्षा दो चरणों में ली जा सकते हैं ।
  • पढ़ाई को आसान बनाने साथ ही छात्रों को समझ में आने योग्य बनाने के लिए पढ़ाई क्षेत्र में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सॉफ्टवेयर का भी इस्तेमाल किया जाएगा दूसरे देश की तर्ज पर अब भारत में भी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का प्रयोग कर पढ़ाया जाएगा ।
  • हायर एजुकेशन लेवल पर एमफिल डिग्री को खत्म किया जा रहा है ।
  • नई शिक्षा नीति के तहत एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज को मेन सिलेबस में रखा गया है ।
  • New Education Policy 2023 के तहत छात्रों को 3 भाषा सिखाई जाएंगे जो राज्य को अपने स्तर पर निर्धारित करना होगा ।

nep new education policy

  • भारत की नई शिक्षा नीति 2023 के तहत राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद द्वारा स्कूली शिक्षा के लिए राष्ट्रीय पाठ्यक्रम रूपरेखा तैयार की जाएगी ।
  • भारत में नई शिक्षा नीति को निचले स्तर पर कार्य में लाने के लिए बहुत सारे संस्थान स्थापित किए जाएंगे जिससे New Education Policy (NEP) को सुचारू रूप से चलने में मदद मिल सकेगी ।
  • इस नई शिक्षा नीति के आ जाने से बच्चों को कौशलपूर्ण बनाने पर ज्यादा ध्यान दिया जाएगा , साथ ही उन्हें पढ़ाई भी विशेष रूप से कराई जाएगी ।
  • भारत की नई शिक्षा नीति के आ जाने से स्टूडेंट के ऊपर से पढ़ाई का बोझ कम होगा और उन्हें सीखने के क्षेत्र में काफी उन्नति प्रदान होगी । यानी अब विद्यार्थी रट्टा मार की जगह कौशलपूर्ण और योग्य बनेंगे ।

नेशनल एजुकेशन पॉलिसी काम कैसे करेगी ?

भारत की नई शिक्षा नीति विशेष रूप से चार चरणों में काम करेगी , 5+3+3+4 के पैटर्न को प्रयोग में लेकर स्टूडेंट की शिक्षा को आगे बढ़ाया जाएगा । इस नए पैटर्न के तहत 12 साल की स्कूली शिक्षा तथा 3 साल की स्कूली शिक्षा शामिल है । New Education Policy 2023 को सरकारी तथा प्राइवेट स्कूल दोनों संस्थाओं के द्वारा फॉलो किया जाएगा ।

New Education Policy के 4 चरण जो निम्नलिखित है :-

  1. फाउंडेशन स्टेज :- फाउंडेशन स्टेज में 3 से 8 साल के बच्चे शामिल किए गए हैं , इस स्टेज में तीन साल की अपनी स्कूली शिक्षा तथा 2 साल की स्कूली शिक्षा जिसमें कक्षा 1 तथा दो शामिल है । फाउंडेशन स्टेज में छात्रों को भाषा कौशल और शिक्षण के विकास के बारे में सिखाया जाएगा और इस पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा ।
  2. प्रीप्रेटरी स्टेज :- प्रीप्रेटरी स्टेज के तहत 8 से लेकर 11 साल के बच्चे को शामिल किया गया है , प्रीप्रेटरी स्टेज के तहत कक्षा 3 से कक्षा पांच के बच्चे शामिल होंगे और इस स्टेज में बच्चों की भाषा और संख्यात्मक कौशल के विकास करण शिक्षकों का उद्देश्य रहेगा । प्रीप्रेटरी स्टेज तक बच्चों को क्षेत्रीय भाषा में पढ़ाया जाएगा ।
  3. मिडिल स्टेज :- मैथिली स्टेज के अंतर्गत कक्षा 6 से कक्षा आठ के बच्चे शामिल होंगे , लिटिल स्टेज के तहत कक्षा 6 के बच्चों को कोडिंग सिखाया जाएगा साथियों ने व्यावसायिक प्रशिक्षण और इंटर्नशिप भी प्रदान की जाएगी ।
  4. सेकेंडरी स्टेज :- सेकेंडरी स्टेज के तहत कक्षा 9 से कक्षा 12 तक के बच्चों को शामिल किया गया है , सेकेंडरी स्टेज के तहत जैसे बच्चे पहले साइंस कॉमर्स तथा आर्ट्स लेते थे इस सुविधा को खत्म कर दी गई है , सेकेंडरी स्टेज के तहत बच्चे अपने पसंद की सब्जेक्ट ले सकेंगे और आगे की पढ़ाई कर सकेंगे ।
  5. उदाहरण से समझा यदि बच्चा साइंस के साथ कॉमर्स या फिर कॉमर्स के साथ आर्ट्स की पढ़ाई करना चाहता है तो इसकी भी अनुमति होगी ।

National Education Policy Pdf Download

अगर आप National Education Policy के तहत सरकार के द्वारा जारी किए गए PDF को डाउनलोड करना चाहते हैं तो यहां हम आपको National Education Policy pdf download करने का लिंक दे रहे हैं जिस पर आप National Education Policy के संपूर्ण जानकारी को प्राप्त कर सकते हैं । Click here to download National Education Policy PDF

FAQ New National Education Policy 2020

Q 1. राष्ट्रीय शिक्षा नीति में बताए गए सुधा वह बदलाव कैसे लागू किए जाएंगे ?

राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP) मैं अभी शिक्षा सुधारों के सुझाव को ही मंजूरी दी गई हैं इसे लागू नहीं किया गया है । इस सुधारों का क्रियान्वयन होना अभी बाकी है और यह जरूरी नहीं है कि इस नई शिक्षा नीति में सभी सुझावों को मंजूरी मिल जाए क्योंकि शिक्षा एक समवर्ती विषय है जिस पर केंद्र और राज्य सरकार दोनों का हक है केंद्र और राज्य सरकार दोनों की अनुमति से ही शिक्षा नीति के सभी सुझावों को लागू किया जा सकता है ।

नई शिक्षा नीति के सभी सुझावों और बदलावों को लागू करने के लिए केंद्र और राज्य सरकार का आपस में सहयोग होना अनिवार्य है ।

Q 2. नई शिक्षा नीति कब से लागू होगी ?

राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2023 अभी इतनी जल्दी लागू होने वाली नहीं है सरकार ने खुद राष्ट्रीय शिक्षा नीति के सुझावों को पूरी तरह से लागू करने के लिए 2040 तक का टारगेट रखा है । हालांकि नई शिक्षा नीति के तहत कुछ महत्वपूर्ण सुझाव आने वाले दो-तीन सालों में लागू हो सकते हैं । वैसे राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2023 के फाइनल ड्राफ्ट में कहा गया है कि 2040 तक भारत के लिए कैसी शिक्षा प्रणाली का लक्ष्य होना चाहिए जहां किसी भी सामाजिक और आर्थिक सुस्ती भूमि से संबंध रखने वाले शिक्षार्थियों को समान रूप से सर्वोच्च गुणवत्ता की शिक्षा उपलब्ध हो । शिक्षा नीति को लागू करने के लिए फंड अहम है और सरकार से मिली जानकारी से भारत के जीडीपी का 6% नई शिक्षा नीति को लागू करने पर खर्च किया जाएगा । एक और बात 1968 में बनी पहली शिक्षा नीति फंड के अभाव के कारण पूरी तरह से लागू नहीं हो पाई थी ।

Q 3. नई शिक्षा नीति के तहत बोर्ड की परीक्षा होगी या नहीं ?

हालांकि इस नई शिक्षा नीति के तहत 10वीं और 12वीं कक्षा की बोर्ड की परीक्षा तो होगी लेकिन इसमें बड़े बदलाव किए गए हैं बोर्ड की परीक्षाओं की महत्व को कम किया जाएगा । साल में दो बार बोर्ड परीक्षा होगी लेकिन इस नई शिक्षा नीति के तहत विद्यार्थियों पर बोर्ड परीक्षा का दबाव कम होगा । विद्यार्थियों को रखने की प्रवृत्ति को कम करने के लिए विश्व में कांसेप्ट और ज्ञान के महत्व को बढ़ावा दिया जाएगा और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का प्रयोग करते हुए पढ़ाई को आसान और समझने योग्य बनाया जाएगा ।

Q 4. जो बच्चे अभी नर्सरी में है उनका क्या करना है ?

समझिए अभी सिर्फ नई शिक्षा नीति के ऊपर विचार और विमर्श चल रहा है नई शिक्षा नीति को अभी लागू नहीं की गई है । अतः अभिभावकों को को 5+3+3+4 फार्मूला समझने की फिलहाल जरूरत नहीं है , यह फार्मूला का प्रयोग नई शिक्षा नीति का प्रयोग क्रियान्वयन के बाद ही हो पाएगा , तो अभी जैसा चल रहा है वैसा चलने दे । लेकिन जब नई शिक्षा नीति लागू हो जाएगी तब प्ले स्कूल के शुरुआती साल भी अब स्कूली शिक्षा से जुड़ेंगे जो की नई शिक्षा नीति का एक अहम बदलाव है ।

Q 5. जो अगले साल कॉलेज जाएंगे उनका क्या होगा ?

न्यू एजुकेशन पॉलिसी के तहत उच्च शिक्षा में कई अहम बदलाव किए गए हैं लेकिन यह बदलाव भारत में कब से लागू होगा इसके ऊपर केंद्र सरकार या राज्य सरकार के द्वारा कोई भी जानकारी नहीं दी गई है । 12वीं के बाद अभी जो विद्यार्थी कॉलेज जाएंगे ऐसे में संभव है विद्यार्थी पुराने सिलेबस यानी स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम के हिसाब से ही दाखिला ले पाएंगे ।

वैसे तो नई शिक्षा नीति के हिसाब से अब ग्रेजुएशन में छात्र 4 साल का कोर्स पढ़ेंगे जिसमें बीच में कोर्स छोड़ने की गुंजाइश भी दी गई है छात्र अगर कोर्स बीच में छोड़ देते हैं तो उन्हें ड्रॉपआउट घोषित नहीं किया जाएगा बल्कि उन्हें एक सर्टिफिकेट दिया जाएगा जिससे यह प्रमाणित होगा कि छात्र ने पहले वर्ष तक पढ़ाई की पर भविष्य में छात्र जब चाहे अगले वर्ष की पढ़ाई कर सकता है ।

new education policy pdf new education policy pdf new education policy pdf new education policy pdf  new education policy pdf new education policy pdf नेशनल एजुकेशन पॉलिसी क्या है नेशनल एजुकेशन पॉलिसी क्या है नेशनल एजुकेशन पॉलिसी क्या है नेशनल एजुकेशन पॉलिसी क्या है नेशनल एजुकेशन पॉलिसी क्या है नेशनल एजुकेशन पॉलिसी क्या है नेशनल एजुकेशन पॉलिसी क्या है नेशनल एजुकेशन पॉलिसी क्या है 

nep new education policy , national education policy 2023 , national education policy 2023 , नेशनल एजुकेशन पॉलिसी 2023 , नेशनल एजुकेशन पॉलिसी 2023 , v , नई शिक्षा नीति हिंदी , नई शिक्षा नीति हिंदी , नई शिक्षा नीति हिंदी , नई शिक्षा नीति हिंदी , नई शिक्षा नीति हिंदी , नई शिक्षा नीति हिंदी , नई शिक्षा नीति हिंदी

If you want to ask me something then you can reach me through comment or via instagram

ध्यान दें :- ऐसे ही केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा शुरू की गई नई या पुरानी सरकारी योजनाओं की जानकारी हम सबसे पहले अपने इस वेबसाइटcscdigitalsevasolutions.com के माध्यम से देते हैं तो आप हमारे वेबसाइट को फॉलो करना ना भूलें ।

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे Like और share जरूर करें ।

Advertisements

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद…

Posted by Sanjit Gupta

Join Our Group For All Information And Update, Also Follow me For Latest Information
Facebook Page ↗️Click Here
Google News Join Now
↗️Click Here
Instagram ↗️Click Here
Telegram Channel Techguptaji ↗️Click Here
Telegram Channel Sarkari Yojana ↗️Click Here
Twitter ↗️Click Here

Website

↗️Click Here

nep new education policy

Advertisements

 

शिक्षा में कौन सा देश नंबर वन पर है?

हालांकि, बच्चों को पढ़ाने और उनका होमवर्क कराने में वक्त देने के मामले में भारतीय दुनिया में पहले नंबर पर आते हैं। भारत में इस बार के आम बजट में शिक्षा क्षेत्र को कुल 85 हजार 10 करोड़ रुपए मिले हैं। यह पिछले साल के संशोधित बजट से सिर्फ 3 हजार 141 करोड़ रुपए ज्यादा है।

क्या आपने NEP 2020 को पढ़ा है यदि हाँ तो NEP 2020 के प्रमुख प्रावधान कौन कौन से है?

नई शिक्षा नीति में पहले जो 10+2 की पंरपरा थी, अब वो खत्म हो जाएगी. अब उसकी जगह सरकार 5+3+3+4 की बात कर रही है. 5+3+3+4 में 5 का मतलब है – तीन साल प्री-स्कूल के और क्लास 1 और 2 उसके बाद के 3 का मतलब है क्लास 3, 4 और 5 उसके बाद के 3 का मतलब है क्लास 6, 7 और 8 और आख़िर के 4 का मतलब है क्लास 9, 10, 11 और 12.

आपको नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 का सबसे प्रभावी पहलू क्या लगा?

मूलभूत शिक्षा पर ध्यान इस नीति का सबसे महत्वपूर्ण पहलू है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत Foundational Literacy and Numeracy के विकास को एक राष्ट्रीय मिशन के रुप में लिया जायेगा। प्रारम्भिक भाषा का ज्ञान, संख्या का ज्ञान, बच्चों में सामान्य लेख को पढ़ने और समझने की क्षमता का विकास, ये बहुत आवश्यक होता है।11-Sept-2022

पाठ्यक्रम से क्या समझते हैं?

पाठ्यक्रम (Curriculum) एक शिक्षा का आधार हैं जिसकी राह पर चलकर शिक्षा के उद्देश्यों की पूर्ति की जाती हैं। पाठ्यक्रम के अनुसार ही छात्र अपना अधिगम कार्य करते हैं। पाठ्यक्रम द्वारा ही विषयों को क्रमबद्ध तरीके से किया जाता हैं। … यह कहना गलत नहीं होगा कि विद्यालय का समस्त कार्य ही एक प्रकार का पाठ्यक्रम (Curriculum) हैं।

NEP 2020 में पाठ्यक्रम की रूपरेखा क्या है *?

शिक्षा की रूपरेखा को 5+3+3+4 के स्कूली पाठ्यक्रम में विकसित किया जाएगा। जिसमें 3 से 8, 8 से 11, 11 से 14 तथा 14 से 18 वर्ष की उम्र के बच्चे शिक्षा प्राप्त कर सकेंगे। इस रूपरेखा के पहले भाग में प्री स्कूल के 3 साल तथा प्राथमिक स्कूल की पहली एवं दूसरी कक्षा, कक्षा 3 से 5, कक्षा 6 से 8 एवं कक्षा 9 से 12 शामिल है।

Sanjeet Kumar is a graduate of Journalism, Psychology, and English. Passionate about communication - with words spoken and unspoken, written and unwritten - he looks forward to learning and growing at every opportunity. Pursuing a Post-graduate Diploma in Translation Studies, he aims to do his part in saving the 'lost…

5 thoughts on “New National Education Policy 2022 नई शिक्षा नीति What is NEP 5+3+3+4 Structure PDF”

  1. Very useful article thanks. कॉलेज में क्रेडिट वैल्यू अंक क्या है इस पर भी आर्टिकल लिखने की कृपा करे

    Reply
  2. नई शिक्षा नीति 2022 मे M.A करने के बाद BEd किया जाए तो BEd कितने साल का होगा ….

    Reply
  3. राजस्थान में benk वाले अपनी मन मानी करते हैं बससो को एजुकेशन लोन लेने के लिए कितने दिन सकर लगवाते हैं
    फिर बोलते हैं आपका लोन में नही दे सकता
    मुझ पर जो बीत रहा है वो मे बता रहा हूँ

    Reply

Leave a Comment